News on the topic

आंध्र प्रदेश: भीमराव अंबेडकर की मूर्ति को किया क्षतिग्रस्‍त, तोड़ डाले नाक और कान

यह विशाखापट्टनम जिले के 46 मंडलों में एक है। विशाखापट्टनम जिले में महापुरुषों की प्रतिमा को क्षतिग्रस्‍त करने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले अक्‍टूबर महीने में इसी जिले के मधुरवाड़ा इलाके में अज्ञात उपद्रवियों ने 150वीं जयंती से ठीक एक दिन पहले राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की प्रतिमा को तोड़ दिया था। उस वक्‍त पुलिस ने मौके पर पहुंच कर छानबीन की थी और इस मामले में केस भी दर्ज किया था। दिलचस्‍प है कि जहां गांधीजी की प्रतिमा को क्षतिग्रस्‍त किया गया वहां पंडित जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, डॉक्‍टर भीमराव अंबेडकर और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की भी प्रतिमा ...
Thursday, December 6, 2018

Nation pays homage to Dr BR Ambedkar on his 63rd Maharparinirvan Diwas

Nation pays homage to Bharat Ratna Dr Bhim Rao Ambedkar on his 63rd Mahaparinirvan Diwas on Thursday. President Ram Nath Kovind will offer floral tribute at the statue of Baba Saheb at Sansad Bhavan Lawns in the Parliament House complex.
Thursday, December 6, 2018

Ambedkar Statue Vandalised in Andhra Pradesh Ahead of 'Mahaparinirvan Diwas'

New Delhi: A statue of B R Ambedkar was allegedly vandalised by unidentified people in Andhra Pradesh's Pedagantyada area, triggering protests in the region. The incident took place a day ahead of the Dalit icon's 62nd Mahaparinirvan Diwas According to ...
Thursday, December 6, 2018

संसद में बाबा साहेब आंबेडकर को राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली, जेएनएन। भारत रत्न से सम्मानित बाबा साहेब डॉ. बीआर आंबेडकर का 63वें महापरिनिर्वाण दिवस आज पूरे देश में मनाया जा रहा है। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्र का नेतृत्व करते हुए संसद भवन प्रांगण में स्थापित बाबा साहेब की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। इस दौरान उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उनको नमन करेंगे।इस मौके पर केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. थावरचंद गहलोत, सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले, कृष्णपाल गुर्जर, विजय सांपला और अन्य गणमान्य व्यक्ति ...

महापरिनिर्वाण दिवस विशेष: जानें- कैसे संविधान निर्माता का सरनेम सकपाल से हो गया था अंबेडकर

नई दिल्ली: भारतीय संविधान के निर्माता, समाज सुधारक डॉक्‍टर भीमराव अंबेडकरकी आज पुण्यतिथि है. बाबा साहेब अंबेडकर ने छह दिसंबर 1956 को अंतिम सांस ली थी. आज का दिन 'महापरिनिर्वाण दिवस' ( Mahaparinirvan Diwas 2018) के रूप में मनाया जाता है. बाबा साहेब के नाम से मशहूर डॉक्‍टर अंबेडकर ने छुआ-छूत और जातिवाद के खात्‍मे के लिए खूब आंदोलन किए. उन्‍होंने अपना पूरा जीवन गरीबों, दलितों और समाज के पिछड़े वर्गों के उत्‍थान के लिए न्‍योछावर कर दिया. अंबेडकर ने खुद भी उस छुआछूत, भेदभाव और जातिवाद का सामना किया है, जिसने भारतीय समाज को खोखला बना दिया था. अपने जमाने के वो ऐसे राजनेता थे ...
Thursday, December 6, 2018

14 भाई-बहनों में सबसे छोटे थे डॉ. भीमराव, ऐसे मिला 'आंबेडकर' उपनाम

हिंदू धर्म में व्याप्त कुरीतियों से आहत डॉ. आंबेडकर ने कहा था कि 'मैं एक हिंदू के तौर पर पैदा हुआ क्योंकि इस पर मेरा बस नहीं था, लेकिन हिंदू के तौर पर मरूंगा नहीं, इसलिए 14 अक्टूबर 1956 को उन्होंने नागपुर की दीक्षा भूमि में अपने 10 लाख अनुयायियों के साथ बौद्ध धर्म की दीक्षा ली. इसी साल डॉक्टर आंबेडकर ने 'बुद्धा एंड हिज' धम्म लिखी. जीवन के आखिरी समय भी आंबेडकर समाज के हित की दिशा में काम करते रहे. उनकी आखिरी पुस्तक 'बुद्धा और कार्लमास्क' थी. इस किताब को उन्होंने अपनी मृत्य के 4 दिन पहले ही पूरा किया. 6 दिसंबर 1956 को बाबा साहेब पंचतत्व में विलीन हो गए. उनके कार्यों के लिए ...
Thursday, December 6, 2018

14 भाई-बहनों में सबसे छोटे थे डॉ. भीमराव, ऐसे मिला 'अंबेडकर' उपनाम

संविधान के मुख्य वास्तुकार के रूप में अंबेडकर के योगदान को भूलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने 1948 में संविधान सभा के सामने हिंदू कोड बिल पेश किया. ये बिल संयुक्त और अविभाजित हिंदू परिवार में संपत्ति के अधिकार से जुड़ा था. इसके अलावा इसमें स्त्रियों को अपनी मर्जी से विवाह और तलाक होने पर पति से अलग रहने पर गुजारा भत्ता, गोद लेने खासकर बच्ची को भी गोद लिए जाने और बच्चों के संरक्षण का भी अधिकार भी दिया. लेकिन कट्टर हिंदुओं और कांग्रेस के अंदर उठे विरोध के चलते ये बिल पास न हो सका. इससे नाराज अंबेडकर ने 1951 में कानून मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. हालांकि, बाद में ...
Thursday, December 6, 2018

On Mahaparinirvana Diwas, Tributes Pour In For "Baba Saheb" BR Ambedkar

On 62nd death anniversary of BR Ambedkar, also called Ambedkar Nirwan Diwas, leaders paid tributes to "Baba Saheb". Ambedkar, who worked on social discrimination against untouchables and also supported the rights of women and labourers, is revered ...
Thursday, December 6, 2018

How BJP Overshadows Dates Related to Ambedkar and the Constitution

Millions of Dalits across the country will pay homage to Dr B.R. Ambedkar on his death anniversary on December 6. Many will travel to Chaityabhoomi in Mumbai, where his last rites were performed. Only two weeks separate November 26 and December 6.
Wednesday, December 5, 2018