Makar Sankranti Punya Kal 2020 : मकर संक्रांति पर इस समय ...

जगत को जीवन प्रदान करने वाले और सभी जीवधारियों में आत्मा रूप में मौजूद भगवान सू्र्य 14 जनवरी की आधी रात के बाद 2 ...

Related news

Makar Sankranti 2020: इस शुभ मुहूर्त में स्नान-दान सबसे ...

(Makar Sankranti 2020 Snan Shubh Muhurat) मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान का कई गुना फल मिलता है. इस बार मकर संक्रांति 15 ...
Monday, January 13, 2020

Happy Makar Sankranti: अपनों को भेजें मकर संक्रांति के ये शानदार शुभकामना संदेश

हिन्दू त्योहारों में मकर संक्रांति को एक प्रमुख त्योहार माना जाता है। मकर संक्रांति तब मनाई जाती है तब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं। आमतौर पर मकरसंक्रांति 14 जनवरी को मनाई जाती है लेकिन इस बार 14 जनवरी की रात से सूर्य मकर राशि में आ रहे हैं जिससे 15 जनवरी को मकरसंक्रांति मनाना शुभ होगा। इसी दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण में आते हैं। मकर संक्रांति का पर्व मुख्य रूप से सूर्य पूजा का पर्व है। इस दिन स्नान दान का विशेष महत्व है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में स्नान करते हैं और सूर्य को अर्घ्य देकर आग में दिल और गुड़ डालते हैं। उत्तर प्रदेश में इस तिल के लड्डू और खिचड़ी ...
Sunday, January 13, 2019

Makar Sankranti 2019 : मकर संक्रांति 15 जनवरी को, इस दिन सूर्य को जल चढ़ाएं और स्वास्थ्य लाभ के लिए कुछ देर धूप में बैठें

मकर संक्रांति से ठंड का असर कम होना शुरू हो जाएगा। इस दिन सूर्य की किरणें हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद रहती हैं। त्वचा की चमक बढ़ती है और शरीर को ऊर्जा मिलती है। सूर्य की किरणों के चमत्कारी असर को देखते हुए ही इस दिन पतंग उड़ाने की प्राचीन परंपरा चली आ रही है। मकर संक्रांति पर कुछ देर धूप में बैठना चाहिए। 3. तिल-गुड़ का सेवन करें. सर्दी के दिनों में समय-समय पर तिल और गुड़ का सेवन करना चाहिए। तिल और गुड़ की तासीर गर्म होती है जो कि हमारे शरीर को गर्मी प्रदान करती है। तिल-गुड़ की इसी विशेषता को ध्यान में रखते हुए मकर संक्रांति पर इनका सेवन किया जाता है। संक्रांति के ...

Makar Sankrati Muhurat: मकर संक्रांति कल यह है स्नान दान का शुभ मुहूर्त

दान-पुण्य का महापर्व मकर संक्रांति मंगलवार को मनाया जाएगा। इसके साथ ही विवाह के शुभ मुहूर्त भी शुरू हो जाएंगे। सूर्य सोमवार शाम 7:50 बजे मकर राशि में प्रवेश करेगा, लेकिन इसका मान सूर्योदय से होगा। इस कारण मकर संक्रांति मंगलवार को मनाई जाएगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 6:42 से 9:25 बजे तक रहेगा। उप्र संस्कृत संस्थान के संस्कृत साहित्याचार्य महेन्द्र कुमार पाठक ने बताया कि इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग होने की वजह से स्नान दान का खास महत्व होगा।

Makar Sankranti 2019: ये हैं मकर संक्रांति से जुड़ी मान्यताएं, जानिए खास बातें

Makar Sankranti 2019: ये हैं मकर संक्रांति से जुड़ी मान्यताएं, जानिए खास बातें. Makar Sankranti 2019: आज मकर संक्राति है. पूरे देश में यह विभिन्न तरीकों से मनाई जाती है. आज मकर संक्राति (Makar Sankranti 2019) है. पूरे देश में यह विभिन्न तरीकों से मनाई जाती है. हमारे देश में मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के पर्व का व‍िशेष महत्‍व है, जिसे हर साल जनवरी के महीने में धूमधाम से मनाया जाता है. इस द‍िन सूर्य उत्तरायण होता है यानी कि पृथ्‍वी का उत्तरी गोलार्द्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है. परंपराओं के मुताबिक इस द‍िन सूर्य मकर राश‍ि में प्रवेश करता है. देश के व‍िभिन्‍न राज्‍यों में इस पर्व को अलग-अलग नामों ...
Sunday, January 13, 2019

Makar Sankranti Muhurat 2019: मकर संक्रांति कल यह है स्नान दान का शुभ मुहूर्त

दान-पुण्य का महापर्व मकर संक्रांति मंगलवार को मनाया जाएगा। इसके साथ ही विवाह के शुभ मुहूर्त भी शुरू हो जाएंगे। सूर्य सोमवार शाम 7:50 बजे मकर राशि में प्रवेश करेगा, लेकिन इसका मान सूर्योदय से होगा। इस कारण मकर संक्रांति मंगलवार को मनाई जाएगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग सुबह 6:42 से 9:25 बजे तक रहेगा। उप्र संस्कृत संस्थान के संस्कृत साहित्याचार्य महेन्द्र कुमार पाठक ने बताया कि इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग होने की वजह से स्नान दान का खास महत्व होगा।

Makar Sankranti 2019: Kites, Fairs and Lots Of Food, Here's How Makar ...

Makar Sankranti is also known as Sankrat in Rajasthan. People indulge in an array of festive delicacies such as til-paati, gajak, kheer, ghevar, and til ladoo. They also fly kites of vibrant colours on this day. Rajasthani women follow a special ritual ...
Sunday, January 13, 2019

Makar Sankranti 2019: मकर संक्रांति पर इसलिए खाई जाती है खिचड़ी, ये है महत्व

मकर संक्रांति (Makar Sankranti) साल 2019 में 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को मनाई जा रही है. देशभर में इसी दिन से खरमास (Kharmas) समाप्त हो जाएंगे और शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी. मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2019) को दक्षिण भारत में पोंगल (Pongal) के नाम से जाना जाता है. गुजरात और राजस्थान में इसे उत्तरायण (Uttarayan) कहा जाता है. हरियाण और पंजाब में मकर संक्रांति को माघी (Maghi) के नाम से पुकारा जाता है. इसी वजह से इसे साल की सबसे बड़ी संक्रांति (Sankranti) कहा गया है. क्योंकि यह पूरे भारत में मनाई जाती है. मकर संक्रांति पर खिचड़ी खाई जाती है. मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी बनाने, ...
Sunday, January 13, 2019

Meaning of Makar Sankranti / जानें, आखिर क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति का पर्व, क्या है इसका महत्व

Meaning of Makar Sankranti /इस बार मकर संक्रांति दो दिन है क्योंकि 2019 में मकर संक्रांति 14 जनवरी की रात से शुरू होकर 15 जनवरी की दोपहर तक है। लिहाज़ा ज्यादातर लोगों में इस बार मकर संक्रांति के पर्व को लेकर अमंजस बरकरार है। लेकिन हम आपको बता रहे हैं कि इस बार ये पर्व 14 जनवरी की रात से शुरू होगा लिहाज़ा इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी। मकर संक्रांति महज़ एक त्यौहार भर नहीं है बल्कि सांस्कृतिक महत्व के साथ-साथ इस पर्व का संबंध हमारी प्रकृति से भी है तभी तो साल का ये पहला त्यौहार काफी खास माना जाता है। आइए आपको बताते हैं कि कैसे ये पर्व प्रकृति से है संबंधित और ...