Baisakhi 2019 : आज इन SMS और whatsapp message से अपनों को कहें Happy Baisakhi

बैसाखी सिखों का पवित्र त्योहार है। 14 अप्रैल को सिखों के 10वें गुरु गुरु गोविंद सिंह ने खालसा पंथ की स्थापना की थी। इस दिन गुरुद्वारों में भजन कीर्तन का आयोजन किया जाता है। इस त्योहार को रबी की फसल पकने के मौके के तौर पर मनाया जाता है। इस मौके पर लोग एक-दूसरे को शुभकामना संदेश देते हैं और खुशी मनाते हैं। यहां दिए जा रहे शुभकामना संदेश भेजकर आप भी अपनों को Baisakhi 2019 विश कर सकते हैं। खुशियां हो OverFlow, मस्ती कभी न हो Low, अपना सुरूर छाया रहे, दिल में भरा प्‍यार रहे, शोहरत की हो बौछार, ऐसा हो आपके लिए Baisakhi का त्योहार..! बैसाखी आई, साथ में ढेर सारी खुशियां लाई,

Related news

Happy Baisakhi 2019: Wishes, Quotes, Photos, Images, SMS, Messages, Greetings, SMS, WhatsApp And Facebook ...

Baisakhi marks the Sikh New Year and is celebrated on April 13 every year. It coincides with Pohela Boishakh (Bengali New Year), Bohag Bihu(Assamese New Year), Vishu (New Year of Hindus in Kerala), Puthandu (Tamil New Year). Also known as ...
Sunday, April 14, 2019

Happy Baisakhi 2019: बैसाखी की लख लख बधाइयां, दोस्‍तों और रिश्‍तेदारों को भेजें ये शुभकामना संदेश

सिख धर्म में बैसाखी का पर्व नववर्ष के रूप में मनाया जाता है। पंजाब और हरियाणा में यह सर्वाध‍िक लोकप्रिय है। पंजाबी समुदाय और सिख धर्मों के लोगों के लिए इस त्‍योहार का काफी महत्‍व होता है। इस दिन रबी की फसल को काटने के बाद ये लोग खुशियां मनाते हैं। इस अवसर पर लोग एक-दूसरे को बधाई देते हैं। सोशल मीडिया के जमाने में आजकल बधाइयां वाट्सऐप, फेसबुक और टि्वटर पर दी जाती हैं। आइए देखते हैं ऐसे ही कुछ बधाई संदेश… बैसाखी का खुशहाल मौका है, ठंडी हवा का झौंका है, पर तेरे बिन अधूरा है सब, लौट आओ हमने खुशियों को रोका है, हैपी बैसाखी. बैसाखी आई, साथ में ढेर सारी खुशियां लाई,

Baisakhi 2019 Quotes / ये बैसाखी कोट्स भेजकर अपनों को दें उमंग और उल्लास से भरे इस पर्व की शुभकामनाएं

यही तो है बैसाखी का त्यौहार जिसकी रौनक और धूम उसके नाम में ही बखूबी दिखाई देती है। यूं तो बैसाखी का पर्व पूरे उत्तर भारत में ही बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन पंजाब, हरियाणा में इसकी रौनक सबसे ज्यादा देखने को मिलती है। कहते हैं इस पर्व का संबंध सीधे सीधे खेती से है। बैसाखी पर रबी की तैयार नई फसल को काटकर पहला अन्न भगवान को अर्पित किया जाता है। और इसीलिए किसान इस दिन को बड़ी ही खुशी और उल्लास के साथ मनाते हैं। वही इस दिन की लोग एक दूसरे को खास शुभकामनाएं भी देते हैं। अगर आप भी बैसाखी कोट्स भेजकर अपनों को देना चाहते हैं बैसाखी की विशेज तो हम नीचे आपको कुछ ...