6 दिसंबर : विवादित ढांचे की बरसी के 26 साल पूरे, अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

नई दिल्ली : 6 दिसंबर 1992 अयोध्या में कार सेवकों का मजमा लगा था। विवादित ढाचे से कुछ दूरी पर हिंदू संगठनों से जुड़े हुए नेताओं के भाषण अयोध्या की फिजा में गूंज रहे थे। शायद किसी को अंदाजा नहीं था कि कुछ अप्रत्याशित घटना होने वाली है। भीड़ का एक हिस्सा विवादित ढांचे की ओर बढ़ने लगा और महज एक घंटे के अंदर ढाचे को जमींदोज कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि एक तरफ नेता कार सेवकों से संयम बरतने की अपील करते रहे लेकिन कार्यकर्ता बेकाबू हो गए।इतिहास के पन्नों में वो दिन कुछ लोगों के लिए शौर्य का दिन तो कुछ लोगों के लिए काले दिन के तौर पर दर्ज हो गया। विवादित ...

Wednesday, December 5, 2018

Related news

6 दिसंबर 1992: 26 साल बाद भी उस दिन को याद कर सिहर जाते हैं लोग

हाइलाइट्स. 6 दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचे को गिराया गया था; अयोध्या के बाशिंदे 26 साल बाद भी त्रासदी से उबर नहीं पाए हैं; ऑटो ड्राइवर मो. आजिम को अब भी याद है वहडरावनी रात; रातभर खेत में गुजारी थी, सुबह हिंदू परिवार के यहां मिली शरण. अयोध्या अयोध्या के ऑटो ड्राइवर मोहम्मद आजिम को अब भी 6 दिसंबर, 1992 की डरावनी रात याद है, जब उन्होंने यहां के कुछ अन्य मुस्लिम बाशिंदों के साथ अपनी जान की खातिर खेतों में शरण ली थी। तब महज 20 साल के रहे आजिम ने कहा, 'उन्मादी कारसेवकों की फौज ने बाबरी मस्जिद ढहा दी थी, जिसके बाद अशांति और डर का माहौल बन गया था। हम इतने डर गए ...

आज का राशिफलः तीन शुभ योग रहेंगे दिन भर में, चंद्रमा ने मंगल की राशि वृश्चिक में किया प्रवेश, 6 राशियों पर सितारे रहेंगे मेहरबान

रिलिजन डेस्क. गुरुवार, 6 दिसंबर 2018 को तीन शुभ योग बन रहे हैं। दिन की शुरुआत सुकर्मा और सर्वार्थसिद्धि योग से होगी। इसके बाद धृति नाम का शुभ योग भी बनेगा। तीन शुभ योगों के साथ ही चंद्रमा शुक्र की राशि तुला से निकलकर मंगल की राशि वृश्चिक में आ चुका है। ये सारे योग 6 राशियों पर सीधा असर डालेंगे। वृष, मिथुन, कन्या, वृश्चिक, मकर और कुंभ राशि के लिए दिन काफी अच्छा रहने के संकेत हैं। दैनिक राशिफल में मेष, मिथुन, सिंह, तुला, धनु और मीन राशि वालों को थोड़ा संभलकर रहने के संकेत हैं। आज का राशिफल किस राशि के लिए कैसा रहेगा, ये संकेत सितारे बता रहे हैं।

6 दिसंबर : दंगों के बीच जब आजिम के परिजनों को हिन्दू परिवार ने दी शरण

Updated: December 6, 2018, 3:28 AM IST. ऑटो ड्राइवर मोहम्मद आजिम को अब भी छह दिसंबर, 1992 की डरावनी रात याद है जब उन्होंने यहां के कुछ अन्य मुस्लिम बाशिंदों के साथ अपनी जान की खातिर खेतों में शरण ली थी. तब महज 20 साल के रहे आजिम ने कहा, 'उन्मादी कारसेवकों' की फौज ने बाबरी मस्जिद ढ़हा दी थी जिसके बाद अशांति एवं डर का माहौल बन गया था. हम इतने डर गये थे कि हमें नहीं पता था कि हम क्या करें.' अब चार बच्चों के पिता 46 वर्षीय आजिम परेशान हो उठे हैं कि राममंदिर मुद्दा फिर कुछ नेताओं और संघ परिवार द्वारा उठाया जा रहा है और अयोध्या के 'नाजुक शांतिपूर्ण माहौल' के लिए खतरा पैदा किया जा ...
Wednesday, December 5, 2018

6 दिसंबर: अभेद्य सुरक्षा में कैद हुई अयोध्या, प्रशासन की चेतावनी- सुरक्षा से खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं

विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर को लेकर रामनगरी को अभेद्य सुरक्षा घेरे में कैद कर दिया गया है। मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर सुरक्षा की कमान आरएएफ व पीएसी के हवाले कर दी गई है। विज्ञापन. अयोध्या में शांति व सुरक्षा के मद्देनजर प्रमुख स्थलों के साथ ही भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मजिस्ट्रेटों की खास नजर रहेगी। देहात क्षेत्रों में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर पर बाबरी एक्शन कमेटी के यौम-ए-गम और विहिप के विजय दिवस सहित अन्य संगठनों द्वारा कार्यक्रम करने के एलान को लेकर जिले भर में अलर्ट घोषित कर दिया गया है।
Wednesday, December 5, 2018

अयोध्या: 6 दिसंबर को लेकर चौकसी बढ़ी, अभेद्य हुई सुरक्षा

विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर को लेकर रामनगरी को अभेद्य सुरक्षा घेरे में कैद कर दिया गया है। मजिस्ट्रेटों की तैनाती कर सुरक्षा की कमान आरएएफ व पीएसी के हवाले कर दी गई है। अयोध्या में शांति व सुरक्षा के मद्देनजर प्रमुख स्थलों के साथ ही भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मजिस्ट्रेटों की खास नजर रहेगी। विज्ञापन जुड़वा नगरी के साथ-साथ देहात क्षेत्रों में भी सतर्कता बढ़ा दी गई है। अयोध्या में विवादित ढांचा ढहाए जाने की तिथि 6 दिसंबर पर बाबरी एक्शन कमेटी के यौम-ए-गम और विहिप के विजय दिवस सहित अन्य संगठनों द्वारा कार्यक्रम करने के एलान को लेकर जिले भर में अलर्ट ...
Wednesday, December 5, 2018

6 दिसंबर : विवादित ढांचे की बरसी के 16 साल पूरे, अयोध्या में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

नई दिल्ली : 6 दिसंबर 1992 अयोध्या में कार सेवकों का मजमा लगा था। विवादित ढाचे से कुछ दूरी पर हिंदू संगठनों से जुड़े हुए नेताओं के भाषण अयोध्या की फिजा में गूंज रहे थे। शायद किसी को अंदाजा नहीं था कि कुछ अप्रत्याशित घटना होने वाली है। भीड़ का एक हिस्सा विवादित ढांचे की ओर बढ़ने लगा और महज एक घंटे के अंदर ढाचे को जमींदोज कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि एक तरफ नेता कार सेवकों से संयम बरतने की अपील करते रहे लेकिन कार्यकर्ता बेकाबू हो गए।इतिहास के पन्नों में वो दिन कुछ लोगों के लिए शौर्य का दिन तो कुछ लोगों के लिए काले दिन के तौर पर दर्ज हो गया। विवादित ...
Wednesday, December 5, 2018

अयोध्या: विवादित ढांचा विध्वंस की बरसी आज, चप्पे-चप्पे पर पुलिस, धारा 144 लागू

अयोध्या: विवादित ढांचा विध्वंस की बरसी आज, चप्पे-चप्पे पर पुलिस, धारा 144 लागू. सभी राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों पर पुलिस की नजर है। खुफिया एजेंसियां होटल , धर्मशाला और अयोध्या में हर आने-जाने वालों पर नजर गड़ाए है। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी ना हो इसके लिए डीजीपी मुख्यालय से आईजी क्राइम एस के भगत खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर अयोध्या को जोन और सेक्टर में बांटकर मैजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Dec 6, 2018, 11:40AM IST ...

5 घंटे में ध्वस्त हुई बाबरी मस्जिद, जानें 6 दिसंबर 1992 का घटनाक्रम

आज से 26 साल पहले अयोध्या में 6 दिसंबर को लाखों की संख्या में कारसेवकों ने अयोध्या पहुंचकर बाबरी मस्जिद को गिरा दिया. उग्र भीड़ ने तकरीबन 5 घंटे में ढांचे को तोड़ दिया. इसके बाद देश भर में सांप्रदायिक दंगे हुए और इसमें कई बेगुनाह मारे गए. (Photo: India Today Archives). Share; Tweet; Google Plus; Youtube. 5 घंटे में ध्वस्त हुई बाबरी मस्जिद, जानें 6 दिसंबर 1992 का घटनाक्रम. 2 / 8. दरअसल, 6 दिसंबर 1992 की सुबह तक करीब साढ़े 10 बजे लाखों की संख्या में कारसेवक अयोध्या पहुंच गए थे. हर किसी की जुबां पर उस वक्त 'जय श्री राम' का नारा था. भीड़ उन्मादी हो चुकी थी. विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक सिंघल, ...
Wednesday, December 5, 2018