Govardhan Puja: A Day Dedicated To Lord Krishna. Know Its Significance

Govardhan Puja, also called Annakut or Annakoot, is a Hindu festival dedicated to Lord Krishna. Annakoot, which translates to "a mountain of food", is offered to the lord as a mark of gratitude. According to Bhagvata Puran, Lord Krishna had lifted the ...

Thursday, November 8, 2018

Related news

Govardhan Puja 2018: जानिए गोवर्द्धन पूजा की विधि, शुभ मुहूर्त, मान्‍यताएं और अन्‍नकूट का महत्‍व

उधर श्रीकृष्ण ने अपने दैविक रूप से पर्वत में प्रवेश करके ब्रजवासियों द्वारा लाए गए सभी पदार्थों को खा लिया तथा उन सबको आशीर्वाद दिया. सभी ब्रजवासी अपने यज्ञ को सफल जानकर बड़े प्रसन्न हुए. नारद मुनि इन्द्रोज यज्ञ देखने की इच्छा से वहां आए. गोवर्धन की पूजा देखकर उन्होंने ब्रजवासियों से पूछा तो उन्होंने बताया, 'श्रीकृष्ण के आदेश से इस वर्ष इन्द्र महोत्सव के स्थान पर गोवर्धन पूजा की जा रही है.' यह सुनते ही नारद उल्टे पांव इन्द्रलोक पहुंचे और उदास तथा खिन्न होकर बोले-'हे राजन! तुम महलों में सुख की नींद सो रहे हो, उधर गोकुल के निवासी गोपों ने इद्रोज बंद करके आप से बलवान गोवर्धन ...
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018: गोवर्धन पूजा पर पढ़ें ये कथा, भगवान कृष्ण ने रची थी लीला

उनकी बात मान कर सभी ब्रजवासी इंद्र की जगह गोवर्धन पर्वत की पूजा करने लगे। देवराज इन्द्र ने इसे अपना अपमान समझा और प्रलय के समान मूसलाधार वर्षा शुरू कर दी। तब भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठा कर ब्रजवासियों की भारी बारिश से रक्षा की थी। इसके बाद इंद्र को पता लगा कि श्री कृष्ण वास्तव में विष्णु के अवतार हैं और अपनी भूल का एहसास हुआ। बाद में इंद्र देवता को भी भगवान कृष्ण से क्षमा याचना करनी पड़ी। इन्द्रदेव की याचना पर भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को नीचे रखा और सभी ब्रजवासियों से कहा कि अब वे हर साल गोवर्धन की पूजा कर अन्नकूट पर्व मनाए। तब से ही यह पर्व ...
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018: Puja Vidhi, Muhurat, Time, Samagri, Mantra

Govardhan Puja 2018 Puja Vidhi, Muhurat, Time, Samagri, Mantra: The festival of lights is here and while Diwali in itself is a grand celebration there are several other occasions that precede and succeed this special day of celebration. One such ...
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018: Date, Time, Rituals and Significance

The festival is celebrated with pomp and gaiety in Hindu households, and is an extremely special day for the devout followers of Lord Krishna, who is also known as Govardhan dhari. The puja is tied to the great legend of Krishna and mount Govardhan.
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018: गोवर्द्धन पूजा की आज देशभर में धूम, जानें गोवर्धन पूजा की कथा

उधर श्रीकृष्ण ने अपने दैविक रूप से पर्वत में प्रवेश करके ब्रजवासियों द्वारा लाए गए सभी पदार्थों को खा लिया तथा उन सबको आशीर्वाद दिया. सभी ब्रजवासी अपने यज्ञ को सफल जानकर बड़े प्रसन्न हुए. नारद मुनि इन्द्रोज यज्ञ देखने की इच्छा से वहां आए. गोवर्धन की पूजा देखकर उन्होंने ब्रजवासियों से पूछा तो उन्होंने बताया, 'श्रीकृष्ण के आदेश से इस वर्ष इन्द्र महोत्सव के स्थान पर गोवर्धन पूजा की जा रही है.' यह सुनते ही नारद उल्टे पांव इन्द्रलोक पहुंचे और उदास तथा खिन्न होकर बोले-'हे राजन! तुम महलों में सुख की नींद सो रहे हो, उधर गोकुल के निवासी गोपों ने इद्रोज बंद करके आप से बलवान गोवर्धन ...
Thursday, November 8, 2018

गोवर्धन 2018: क्यों मनाते हैं यह पर्व, जानें पूजा विधि और महत्व

गोवर्धन 2018: क्यों मनाते हैं यह पर्व, जानें पूजा विधि और महत्व. By नवभारत टाइम्स | Updated: Nov 08, 2018 09:09 am IST. 32151-4-5-things-about-lord-krishna.jpg. दीपावली के दूसरे दिन यानी कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा को गोवर्धन और गौ पूजा का विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस दिन गाय की पूजा करने के बाद गाय पालक को उपहार एवं अन्न वस्त्र देना चाहिए। ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि आती है। वृंदावन और मथुरा सहित देश के कई हिस्सों में इस दिन गोवर्धन पर्वत की पूजा की जाती है और अन्नकूट उत्सव मनाया जाता है। इस बार गोवर्धन पूजा 8 नवंबर को है। आइए, जानते हैं इसका महत्व और पूजा विधि…

Shocking visuals of 'Govardhan Puja' from around the country | ABP News Videos

Watch these three visuals from around the country where in name of traidition, some shocking rituals are performed on Govardhan Puja. In Gujarat's Dahod, tribals lie on roads and cattles are left to run over them. This ritual is performed from ages.
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018 Celebrations: Villagers in Ujjain Crushed Under Cattle's ...

Madhya Pradesh, November 8: In a representation of what people can do in deep faith, people in Ujjain have cattle crush them under their feet every Govardhan Puja. India is celebrating the Diwali festivities and while the main celebrations took place ...
Thursday, November 8, 2018

Annakut Puja 2018 in India: क्यों मनाया जाता है अन्नकूट, जानिए पूजन विधि, शुभ मुहूर्त, मान्यताएं और महत्व

नई दिल्ली: Annakut or Annakoot 2018: दिवाली के अगले दिन अन्नकूट (Annakoot or Annakut) पूजा होती है. जिसे गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja 2018) के नाम से भी जानते हैं. गोवर्धन पूजा कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनाई जाती है. अन्नकूट (Anna Koot) पूजा दिवाली (Diwali) के एक दिन बाद यानी ठीक दिवाली के अगले दिन मनाई जाती है. इस बार अन्नकूट पूजा 8 नवंबर को मनाई जाएगी. अन्नकूट या गोवर्धन पूजा कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को मनाया जाता है. अन्नकूट पूजा के पर्व पर अन्न का विशेष महत्व है. इस पर्व पर कई तरह के खाने, मिठाई, पकवान यानी छप्पन भोग बनाकर भगवान को भोग लगाया जाता है.
Thursday, November 8, 2018

Govardhan Puja 2018: गोवर्धन पूजा आज, जानें शुभ मुहूर्त से लेकर पूजा विधि तक सभी कुछ

उनकी बात मान कर सभी ब्रजवासी इंद्र की जगह गोवर्धन पर्वत की पूजा करने लगे। देवराज इन्द्र ने इसे अपना अपमान समझा और प्रलय के समान मूसलाधार वर्षा शुरू कर दी। तब भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठा कर ब्रजवासियों की भारी बारिश से रक्षा की थी। इसके बाद इंद्र को पता लगा कि श्री कृष्ण वास्तव में विष्णु के अवतार हैं और अपनी भूल का एहसास हुआ। बाद में इंद्र देवता को भी भगवान कृष्ण से क्षमा याचना करनी पड़ी। इन्द्रदेव की याचना पर भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को नीचे रखा और सभी ब्रजवासियों से कहा कि अब वे हर साल गोवर्धन की पूजा कर अन्नकूट पर्व मनाए। तब से ही यह पर्व ...
Thursday, November 8, 2018